February 17, 2020
  • facebook
  • twitter

फ्रांस ने भारत का समर्थन करते हुए, दोनों देशों को “शांति वार्ता” करने की सलाह दी

  • by Harshit Gupta
  • February 26, 2019

फ्रांस ने भारत के साथ एकता दिखाते हुए यह साफ़ कर दिया की सीमा पार से होने वाले किसी भी प्रकार के आतंकी हमलों का जवाब देना भारत का अधिकार हैं

यूरोप और विदेश मामलों के फ्रांस मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा –

“पाकिस्तान को अपने देश में काम करने वाले आतंकी संघठनो पर रोक लगाना चाहिए और हम उन आतंकियों के बारे में पूरी जानकारी जुटाने में लगें है, जिसने पुलवामा हमलें की योजना बनाई थी, जिससे की उसकी वित्तपोषण नेटवर्क को बंद करा जा सके।”

चीन और ऑस्ट्रेलिया की तरह फ्रांस ने भी भारत और पाकिस्तान को शांति बनाये रखने को कहा हैं, जिससे की दोनों देशों में किसी भी प्रकार की सैन्य वृद्धि न हो और सामरिक स्थिरता को बनाए रखने में दोनों देश एक दूसरे से सहयोग करे। यह जरूरी है की भारत-इस्लामाबाद के बीच बातें फिर से शुरू हो, जिससे की दोनों देशों के बीच अंतर का शांतिपूर्ण हल निकल सके।

ऑस्ट्रेलिया की विदेश मंत्री मरिसे पेन ने कहा –

“ऑस्ट्रेलिया दोनों देशों से अनुरोध करता हैं, की कोई भी देश ऐसी करवाई न करें जिससे क्षेत्र में शांति और सुरक्षा दोनों पर असर पड़े और जितना हो सके चीजों को बातों से सुलझाने की कोशिश करें।”

चीन ने भी भारतीय वायुसेना के हमलें के कुछ घंटों बाद ही दोनों देशों को व्यायाम स्थिति में आने के लिए अनुरोध किया है, जिससे की शांति बनी रहे

चीन के विदेश मंत्री लू कांग ने कहा –

” हम यह आशा करते हैं की दोनों देश अब व्यायाम की स्थिति में आए और ऐसे काम करे जिससे की परिस्थिति में सुधार आए और आपसी संबंध भी सुधारे।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *