January 26, 2020
  • facebook
  • twitter

हार की समीक्षा के लिए दिल्ली में जुटे थे कांग्रेसी, आपस में ही भिड़े नेता

  • by Yogesh
  • June 11, 2019

लोकसभा चुनाव 2019 में मिली करारी हार के बाद मंगलवार को दिल्ली में कांग्रेस की समीक्षा बैठक हुई।  इस बैठक में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की हार की समीक्षा के लिए जुटे कांग्रेसी नेता आपस में ही भिड़ गए।

वहीं हाल ही में कांग्रेसी नेताओं की इस अनुशासनहीनता पर कांग्रेस के एक नेता ने सफाई दी कि यह हमारा अंदरूनी मामला है।  हार की समीक्षा के लिए इस बैठक में कांग्रेस के पश्चिमी उत्तरप्रदेश के 10 जिलों के नेताओं को बुलाया गया था।

कांग्रेस नेता जब समीक्षा बैठक के बाद परिसर के बाहर निकले तो एक- दूसरे से भिड़ते हुए दिखाई दिए। इतना ही नहीं बैठक के बाद परिसर में जमकर हंगामा हुआ। लोकसभा आम चुनाव 2019 में गाजियाबाद सीट से कांग्रेस उम्मीदवार डॉली शर्मा के पिता और शहर कांग्रेस अध्यक्ष नरेंद्र भारद्वाज पार्टी के गाजियाबाद जिला अध्यक्ष हरेंद्र कसाना के साथ उलझते दिखाई दिए।

मंगलवार की समीक्षा बैठक में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 10 जिलों की थी। ज्योतिरादित्य सिंधिया और राज बब्बर ने 10 जिले के प्रत्याशियों, पूर्व विधायक,पूर्व सांसदों और पदाधिकारियों की समीक्षा बैठक बुलाई थी। अब कांग्रेस की अगली समीक्षा बैठक 14 जून को लखनऊ में होगी।

बता दें, कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश में अकेले अपने दम पर चुनाव लड़ने का फैसला किया था। लेकिन इस बार उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी का प्रदर्शन अबतक का सबसे खराब प्रदर्शन रहा है। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी को भी अमेठी लोकसभा सीट से हार का सामना करना पड़ा। सिर्फ सोनिया गांधी की रायबरेली सीट से ही कांग्रेस के खाते में आई थी। कांग्रेस ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश की कमान ज्योतिरादित्य सिंधिया और पूर्वी यूपी की जिम्मेदारी प्रियंका गांधी को दी थी। लेकिन उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से महज 1 सीट पर ही पार्टी जीत हासिल कर पाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *