January 18, 2018
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
  • instagram
  • Homepage
  • >
  • हिंदी
  • >
  • ‘2जी स्‍पेक्‍ट्रम घोटाले’ में लिप्त सभी आरोपियों को कोर्ट ने किया ‘बरी’

‘2जी स्‍पेक्‍ट्रम घोटाले’ में लिप्त सभी आरोपियों को कोर्ट ने किया ‘बरी’

  • by Ashutosh
  • December 21, 2017

आज एक बड़ा फ़ैसला देश के समक्ष आया है, जिससे देश की राजनीति में अब काफ़ी हलचल दिखाई देगी | बहुचर्चित ‘2जी स्पेक्ट्रम घोटाले’ में छह साल बाद सीबीआई की विशेष अदालत ने पूर्व मंत्री ए. राजा और डीएमके नेता कनिमोझी समेत सभी आरोपियों को बरी कर दिया है |

1.76 लाख करोड़ रुपये के इस घोटाले के मामले में फ़ैसला सुनाते हुए आज सीबीआई के विशेष जज ने कहा कि,

  “ सीबीआई आरोपों को साबित करने में नाकाम रही है और पर्याप्त तथ्य और सबूत अदालत के सामने पेश नहीं किए जा सकें हैं, जिसके कारण अदालत सभी आरोपियों को बरी करती है ”

हम आपको बता दें कि 1.76 लाख करोड़ रुपये के इस घोटाले के मामले में डीएमके नेता ए राजा, डीएमके सांसद कनिमोझी समेत 17 आरोपी बनाए गए थे, जिन सभी को आज पर्याप्त सबूत न होने के कारण सीबीआई की विशेष अदालत ने बरी कर दिया है |

कपिल सिब्‍बल ने कहा, सही साबित हुई मेरी ‘जीरो लॉस थ्‍योरी’,

इस फ़ैसले के आने के बाद, जाहिर तौर पर देश की राजनीति में काफ़ी हलचल देखने को मिल रही है | इसी परिपेक्ष में पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्‍बल ने एक बयान देते हुए कहा है कि,

“ मैंने पहले ही स्पष्ट किया था कि 2जी स्‍पेक्‍ट्रम के आवंटन में कोई घोटाला नहीं हुआ था, इस घोटाले को लेकर महज़ एक शक का माहौल पैदा किया गया था, और आज इस फ़ैसले के बाद यह कहा जा सकता है कि मेरी जीरो लॉस की थ्‍योरी सही साबित हुई है ”

“ हम कभी बेबुनियाद बातें नहीं करते हैं, यह सिर्फ बीजेपी करती है, उस वक़्त बीजेपी ने देश के सामने झूठ प्रस्तुत कर काफ़ी हंगामा किया था, और आज आरोप लगाने वालों को देश से माफी मांगनी चाहिए ”

वहीँ प्रतिक्रियाओं के इस दौर में कांग्रेस के एक और वरिष्ठ नेता चिदंबरम ने भी बयान देते हुए कहा कि

 ” अदालत के इस फैसले से साफ़ तौर पर साबित हो गया कि हमारी सरकार पर जो आरोप लगाए गए थे वह महज़ झूठे और बेबुनियाद थे ”

https://twitter.com/ANI/status/943716212080390144?ref_src=twsrc%5Etfw&ref_url=https%3A%2F%2Fin.news.yahoo.com%2F2g-scam-twitter-reacts-accused-acquitted-055649467.html

ए. राजा ने कहा, ‘मैंने क्रांतिकारी क़दम उठाया था, लेकिन मुझे अपराधी की तरह पेश किया गया ”   

इस फ़ैसले के बाद कोर्ट के बाहर ए राजा और कनिमोझी के समर्थकों में जश्‍न का माहौल देखने को मिला और साथ ही कनिमोझी के घर के बाहर भी भारी तादात में समर्थकों को जश्‍न मनाते देखा गया | इस दौरान डीएमके नेता और राज्‍यसभा सांसद कनिमोझी समर्थकों का आभार जताते हुए कहा कि,

 “ मैं उन सभी लोगों का आभार प्रकट करना चाहती हूं, जो इस मुश्किल घड़ी में मेरे साथ खड़े रहे ”

वहीँ इस मामले में आरोपी बनाए गये पूर्व कैबिनेट मंत्री, ए. राजा का एक बयान है कि,

“ मैंने एक क्रांतिकारी क़दम उठाया था, लेकिन मुझे एक अपराधी के रूप में पेश किया गया ”

आख़िर क्या है 2जी घोटाला?

दरसल इस पूरे मामले की शुरुआत तब हुई जब 2010 में आई विनोद राय की कैग की रिपोर्ट में 2008 में बांटे गए स्पैक्ट्रम पर सवाल उठाए गए तथा रिपोर्ट में सीधे आवंटन को ग़लत बताते हुए उन्हें ‘पहले आओ, पहले पाओ’ के तर्ज़ पर आवंटित बताया गया | साथ ही यह भी साफ़ किया गया कि इस प्रक्रिया से सरकार को क़रीब 1.76 लाख करोड़ रुपए का घाटा हुआ था |

इसी के चलते 2010 में सुप्रीम कोर्ट ने इस 2जी स्पैक्ट्रम घोटाले में एक विशेष अदालत बनाने पर विचार करने के परिपेक्ष में अपनी राय दी थी और 2011 में पहली बार इस घोटाले के व्यापक रूप से सामने आने के बाद अदालत में इसका ट्रायल शुरू हुआ और शुरुआती रूप से दोषी मानाते हुए 6 महीने की जेल की सजा सुनाई थी | इसके साथ ही 2012 में क़रीब 122 लाइसेंसों को रद्द भी कर दिया गया था |

Credit: Times of India (TOI)

आख़िर अपराधी कौन? या अपराध हुआ ही नहीं? 

अदालत के इस फ़ैसले के बाद अब देश के सामने कुछ सवाल जरुर खड़े हुए हैं, या तो ऐसा कोई अपराध हुआ ही नहीं, या फ़िर सीबीआई अपराध को साबित करने में नाकाम रही है?

खैर ! अगर विनोद राय द्वारा कैग की रिपोर्ट को सही माना जाए और यह माना जाए की सरकार को इस स्पेक्ट्रम आवंटन के चलते 1.76 लाख करोड़ रूपये का नुकसान हुआ है, तो एक बड़ा सवाल यह भी है कि आख़िर इस नुकसान का ज़िम्मेदार किसको ठहराया जाएगा?

इस बीच देश की राजनीति को एक नया और दमदार मुद्दा मिल गया है, और दिलचस्प यह है कि काफ़ी समय बाद विपक्षी पार्टियों के हाथ एक ऐसा मुद्दा लगा है, जिसमें अब विपक्ष बीजेपी से जवाब माँगती नज़र आ सकती है |

इसके साथ ही साथ अब Twitter में राजनीतिक दलों के नेताओं और आम लोगों ने अब प्रतिक्रियाओं का दौर शुरू कर दिया है |

Previous «
Next »

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *