January 17, 2018
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
  • instagram
  • Homepage
  • >
  • हिंदी
  • >
  • चारा घोटाला फैसला: लालू यादव को हुई ‘3.5 साल की जेल’ और ‘5 लाख का जुर्माना’

चारा घोटाला फैसला: लालू यादव को हुई ‘3.5 साल की जेल’ और ‘5 लाख का जुर्माना’

  • by Ashutosh
  • January 6, 2018

चारा घोटाले से संबंधित देवघर कोषागार से 89 लाख, 27 हजार रुपये की अवैध निकासी के मामले में आज सीबीआई अदालत ने एक बड़ा फ़ैसला ससुनाते हुए, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव को साढ़े तीन साल की जेल की सजा सुनाई है और साथ ही उन पर 5 लाख रूपये का जुर्माना भी लगाया गया है |

लालू यादव के साथ ही इस मामले में दोषी साबित हुए अन्य लोगों फूलचंद सिंह, महेश प्रसाद, बेक जूलियस, सुनील कुमार, सुशील कुमार, सुधीर कुमार और राजाराम को भी साढ़े तीन साल की सजा सुनाई गई और साथ ही उन पर भी पांच लाख का जुर्माना लगाया गया है |

वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये सुनाया गया फ़ैसला

हम आपको बता दें, शनिवार को ही दोषियों की सजा के बिन्दु पर अदालत में बहस पूरी हो गई थी और अदालत ने सजा सुनाने के लिए शनिवार यानि आज दो बजे का समय निर्धारित किया था | इस फैसले के लिए सभी दोषी वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये अदालत की कार्रवाई में शामिल हुए | इसके बाद सीबीआई के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये ही अपना फैसला सुनाया और साथ ही यह भी कहा,

” इन दोषियों के लिए खुली जेल ही बेहतर होगी, क्‍योंकि इन्हें गाय पालने का अनुभव भी है “

तेजस्वी ने फ़ैसले को बताया साजिश, ज़मानत के लिए हाईकोर्ट में करेंगें अपील

इस फ़ैसले के आने से पूर्व, पटना में 10 सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी देवी के आवास पर आरजेडी की एक बैठक बुलाई गई जहाँ तेजस्वी यादव ने कहा,

” लालू यादव जी को केंद्र सरकार ने एक साजिश के तहत फंसाया है, सीबीआई पूरी तरह से केंद्र के इशारों पर काम कर रही है, उनके इन कारनामों से आरजेडी टूटने वाली नहीं हैं, और न ही हम किसी साजिश से डरने वाले नहीं हैं, लालू सिर्फ़ एक व्यक्ति नहीं बल्कि एक विचारधारा का नाम है “

हालाँकि इस बीच अब लालू यादव को अपनी जमानत के लिए हाईकोर्ट में अपील करनी होगी, जो जाहिर तौर पर निकट भविष्य में पार्टी की तरफ़ से उठाया जाने वाला एक प्रत्याशित क़दम होगा | इस फ़ैसले के बाद ख़ुद लालू यादव के वकील ने स्पष्ट करते हुए कहा,

” हम इस फैसले के खिलाफ हाईकोर्ट जाएंगे “

फ़ैसला सुनाने से पहले जज साहब को आया लालू के शुभचिंतकों का फ़ोन

गुरूवार को ही इस मामले में फ़ैसला सुनाने वाले सीबीआई के विशेष न्यायधीश, शिवपाल सिंह ने कार्यवाई के दौरान ही लालू यादव को स्पष्ट रूप से यह बताते हुए कहा था कि,

“लालू जी! आपके शुभचिंतकों के बहुत से फ़ोन कॉल आ रहें हैं, लेकिन आप निश्चिंत रहिये, मैं करूँगा वही जो कानून कहता है”

इसके साथ ही कार्यवाई के दौरान जब लालू यादव ने मजाकिया अंदाज़ में जज साहब से कहा,

” यहाँ जेल में बहुत ठंड हैं “

इस पर सीबीआई के विशेष न्यायधीश, शिवपाल सिंह ने भी उसी मज़ाकिया लहज़े में जवाब देते हुए कहा,

” अगर ऐसा है लालू जी! तो आप तबला बजाइए “

हालाँकि इस फ़ैसले के बाद अब लालू यादव के राजनीतिक जीवन पर एक और सवाल उठता नज़र आने लगा है | जहाँ एक ओर विपक्ष अब और खुल कर लालू यादव को जवाब और उन पर हमला करने की तैयरियों में है, वहीँ लालू यादव और उनकी पार्टी अब इस वक़्त एक ऐसे चेहरे की तलाश में भी जरुर जुट गई होगी, जो ऐसी मुश्किल घड़ी में पार्टी में बिखराव की स्थिति उत्पन्न ने होने दे |

इस बीच इस फ़ैसले पर आम लोगों और राजनेताओं की प्रतिक्रयाएं सामने लेकर आने लगी हैं , और देश की राजनीति को एक सबक के साथ साथ एक नया मुद्दा भी मिल गया है |

Previous «
Next »