January 17, 2018
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
  • instagram
  • Homepage
  • >
  • हिंदी
  • >
  • ‘2018’ शानदार आगाज़: रजनीकांत ने किया अपनी राजनीतिक पार्टी का ऐलान

‘2018’ शानदार आगाज़: रजनीकांत ने किया अपनी राजनीतिक पार्टी का ऐलान

  • by Ashutosh
  • December 31, 2017

जी हाँ जनाब ! सही सुना आपने, देश ही नहीं दुनिया भर में किसी पहचान के मोहताज़ न होने वाले सुपरस्टार ‘रजनीकांत’ ने आज अपने राजीनीतिक भविष्य की दिशा तय कर दी है | रजनीकांत ने पहले ही स्पष्ट कर दिया था कि वह राजनीति में प्रवेश संबंधी ख़बरों पर 31 दिसंबर को अपना रुख स्पष्ट करेंगें |

और अब सभी अटकलों पर विराम लगाते हुए उन्होंने अपनी राजनीतिक पार्टी बनाने का ऐलान कर दिया है | हालाँकि हम आपको बता दें इसके पहले 67 वर्षीय रजनीकांत जी ने इस बात का एक साफ़ और मजबूत संकेत देते हुए चेन्नई में कहा था,

” मैं राजनीति में नया नहीं हूँ, मैं 1996 से ही इसमें लिप्त रहा हूँ, मैं 31 दिसंबर को राजनीति में अपने प्रवेश के बारे में नहीं, बल्कि राजनीति में अपने दृष्टिकोण का ऐलान करूंगा “

और अपनी बात पर कायम रहने के लिए पहचाने जाने वाले रजनीकांत ने आज ऐसा ही किया और उन्होंने अपनी ही एक नई पार्टी बनाने की घोषणा की |

इस ऐलान को भी रजनीकांत ने अपने ही अंदाज़ में किया और अपने संबोधन में काफ़ी खुल कर बात करते नज़र आए | उनके भाषण की कुछ ख़ास पहलु कुछ इस प्रकार रहे,

  • अपनी पार्टी बनाने की बात का ऐलान करते हुए उन्होंने कहा,

” मैं अपना कर्तव्य निभाना चाहता हूँ, मैं कायर नहीं हूँ और न ही मैं पीछे हटने वाला हूँ, और मैं तमिलनाडु की जनता को नीचे नहीं जाने दूंगा न ही उनका सिर झुकने दूंगा “

  • साथ ही रजनीकांत ने स्पष्ट करते हुए कहा की वह तमिलनाडु में होने वाले आगामी विधानसभा चुनावों में लड़ेंगें |
  • साथ ही रजनीकांत ने अपने इरादों को साफ़ करते हुए कहा,

” मुझे अपनी पार्टी में कैडर नहीं गार्ड चाहिए जो गलत होने से रोक सकें, मैं सिर्फ उनका सुपरवाइजर रहूंगा, हमारे पास हजारों रजिस्ट्रेशन वाले क्लब हैं, सबको रजिस्ट्रेशन कराकर गार्ड बनना होगा, तब तक हमें न किसी की आलोचना करना है और न राजनीति पर बोलना है “

” साथ ही विधानसभा चुनाव के समय ही हम अपनी नीतियों और वादों का ऐलान करेंगे, अगले विधानसभा चुनाव तक हमारी सेना तैयार हो जाएगी “

एक लिहाज़ से देखा जाए तो रजनीकांत के इस कदम को काफ़ी दमदार माना जा रहा है | दरसल जयललिता के निधन के बाद से ही दक्षिण प्रान्तीय राज्यों में एक लोकप्रिय चेहरे की कमी साफ़ तौर पर महसूस की जा सकती है, और उमीद्तन अगर सब सही रहा तो रजनीकांत इन राज्यों में राजनीतिक परिपेक्ष से एक नए लोकप्रिय चेहरे के रूप में उबरते नज़र आ सकतें हैं |

विरोधियों से प्राप्त हुईं मिली-जुली प्रतिक्रियाएं,

इस बात से तो इंकार नहीं किया जा सकता है कि रजनीकांत के इस ऐलान के बाद दक्षिण की राजनीति में ख़लबली न मची हो, और अब प्रत्याशित रूप से कई राजनीतिक पार्टियों ने उनके इस क़दम पर अपनी प्रतिक्रियाएं देनी शुरू कर दी हैं |

रजनीकांत के इस ऐलान पर अन्नाद्रमुक के वरिष्ठ नेता एवं राज्य के मत्स्यपालन मंत्री डी. जयकुमार ने कहा,

” भारत एक लोकतांत्रिक देश है, यहाँ कोई भी राजनीति में आ सकता है,  इसे स्वीकार करना या न करना  लोगों पर निर्भर है, लोग ही असली जज होते हैं “

वहीं दूसरी ओर हथकरघा मंत्री ओ. एस. मणियन ने कहा,

” 67 साल के रजनीकांत की सेहत को देखते हुए हो सकता है कि राजनीति उनके लिए आदर्श जगह साबित न हो “

साथ ही भाजपा की प्रदेश अध्यक्ष टी. सुंदरराजन ने कहा,

” उनकी पार्टी ने हमेशा राजनीति में रजनीकांत का स्वागत किया है “

खैर! अब देखना यह दिलचस्प होगा कि रजनीकांत के इस फ़ैसले के बाद दक्षिण की राजनीति में किन-किन नए अयामों की शुरुआत होगी और साथ ही दुनिया भर में फ़ैले अपने प्रशंसकों के बीच सुपरस्टार रजनीकांत अपनी कैसी राजनीतिक छवि प्रस्तुत करते हैं |

हालाँकि इस बीच Twitter ने उनके इस फ़ैसले का स्वागत उनके ही ख़ास अंदाज़ में शुरू कर दिया है,

 

Previous «
Next »

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *