July 22, 2018
  • facebook
  • twitter
  • linkedin
  • instagram

उमा भारती का रामदेव को पत्र, “चालाकी, चापलूसी और साजिश मुझे नहीं आती, इसी के बिना मेरा काम चल गया”

  • by Ashutosh
  • July 3, 2018

बीते दिनों बाबा रामदेव और केन्द्रीय मंत्री उमा भारती के बीच गंगा सफ़ाई को लेकर काफ़ी तल्खी नज़र आई | दरसल इस मुद्दे की शुरुआत रामदेव ने की जब उन्होंने लंदन में एक टीवी चैनल से बातचीत के दौरान नितिन गडकरी से उमा भारती की तुलना करते हुए कहा कि

” उमा जी की फाइल ऑफिस में अटक जाती है, जबकि गडकरी जी की फाइल नहीं अटकती…देश में सबसे ज्यादा किसी मंत्री का काम दिखता है तो वह नितिन गडकरी का है “

इस बात से आहत केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने योग गुरू को पत्र लिखकर कहा है कि

” मुझे आपके द्वारा गंगा की विवेचना करते समय दो मंत्रियों की तुलना करना अजीब लगा, मैं स्वयं भी नितिन गडकरी जी की प्रशंसक हूं “

केन्द्रीय पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री उमा भारती ने इस विषय पर तल्ख़ रुख अपनाते हुए समदेव को निम्न पत्र लिखा,

हालांकि, उमा भारती के पत्र के बाद रामदेव का भी बयान आया है, और उन्होंने एक ट्वीट के जरिये अपने बयान पर स्पष्टीकरण दिया |

सोर्स: TheWire

 

Previous «
Next »

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *